₹0.00

जन्मपूर्व योनि विचार !!

[...]



दीपावली  रोशनी का त्योहार

दीपावली अर्थात "रोशनी का त्योहार" शरद ऋतु में हर वर्ष मनाया जाने वाला एक प्राचीन हिंदू त्योहार है। दीवाली भारत के सबसे बड़े और प्रतिभाशाली त्योहारों में से एक है। यह त्योहार आध्यात्मिक रूप से अंधकार पर प्रकाश की विजय को दर्शाता है। [...]



धनतेरस और दीवाली के योग

धनतेरस और दीवाली पर धन एवं ऐश्वर्य की प्रतीक मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने का पर्व दीपावली शुक्रवार को धनतेरस के साथ शुरू हो जाएगा। धनतेरस पर सरसों के तेल का यम दीपक शाम 5:20 से 6 बजे तक जलाएं तो शुभ होगा।..[...]



धनतेरस क्या है महत्व

प्रचलित कथा के अनुसार कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी के दिन समुद्र मंथन से आयुर्वेद के जनक भगवान धन्वंतरि अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे। उन्होंने देवताओं को अमृतपान कराकर अमर कर दिया था।[...]



नवरात्र पर्व का पांचवां दिन

[...]



नवरात्रि के सप्तम दुर्गा : श्री कालरात्रि

श्री दुर्गा का सप्तम रूप श्री कालरात्रि हैं। ये काल का नाश करने वाली हैं, इसलिए कालरात्रि कहलाती हैं। नवरात्रि के सप्तम दिन इनकी पूजा और अर्चना की जाती है। इस दिन साधक को अपना चित्त भानु चक्र (मध्य ललाट) में स्थिर कर साधना करनी चाहिए।[...]



माँ दुर्गाजी की चोथी शक्ति का नाम माँ कूष्माण्डा

[...]



माँ नवदूर्गा का तृतीय रुप माँ चन्द्रघण्टा है

[...]



माँ शैल पुत्री महात्म

[...]



मां दुर्गा का द्वितीय स्वरूप ब्रह्मचारिणी

[...]



Items 1 to 10 of 11 total

per page
Page:
  1. 1
  2. 2