₹0.00

धनतेरस और दीवाली के योग

धनतेरस और दीवाली पर धन एवं ऐश्वर्य की प्रतीक मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने का पर्व दीपावली शुक्रवार को धनतेरस के साथ शुरू हो जाएगा। धनतेरस पर सरसों के तेल का यम दीपक शाम 5:20 से 6 बजे तक जलाएं तो शुभ होगा।..

धनतेरस और दीवाली पर धन एवं ऐश्वर्य की प्रतीक मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने का पर्व दीपावली शुक्रवार को धनतेरस के साथ शुरू हो जाएगा। इस दिन चिकित्सक धनवंतरि जयंती मनाएंगे। धनतेरस पर सरसों के तेल का यम दीपक शाम 5:20 से 6 बजे तक जलाएं तो शुभ होगा। धन तेरस पर पूजन का मुहूर्त शाम 5:35 से 6:20 बजे तक है। वहीं, वृष लग्न शाम 6:30 से रात 8:27 बजे लक्ष्मी मां की आराधना की जाएगी। धनतेरस पर वैधृति योग 27 अक्टूबर को रात 10:25 मिनट से 28 अक्टूबर की रात 10:15 तक रहेगा। पन्चांग के अनुसार लाभ की चौघड़िया सुबह 9 से 10 बजे, अमृत की चौघड़िया सुबह 10 से 11 बजे के बीच, शुभ की चौघड़िया दोपहर 12 से 1 बजे है। लाभ अमृत की चौघड़िया शाम 6:30 से रात 8:30 बजे तक रहेगी। इस समय खरीदारी करना शुभ होगा। छोटी दीपावली 29 को होगी छोटी दीपावली नरक चौदस या नरक चतुर्दशी या नरका पूजा के नाम से भी जानी जाती है। इस दिन सुबह तेल लगाकर चिचड़ी की पत्तियां पानी में डालकर स्नान करने से नरक से मुक्ति मिलती है। इस मौके पर दरिद्रता जा लक्ष्मी आ कह घर की महिलाएं घर से गंदगी को घर से बाहर निकालती हैं। इस बार शाम 5:20 से शाम 6 बजे तक दीपक रोशन कर दें। 30 को होगी दीपावली कार्तिक मास की अमावस्या पर दीपावली मनाई जाएगी। उस दिन व्यापारी दोपहर 1:45 से 3:15 बजे तक, गृहस्थ शाम 6:20 से रात बजे 8:20 तक और विशेष साधक रात 12:45 से रात 3 बजे तक पूजन कर सकते हैं।

Comments